Category: Pauranik Katha

गोवर्धन पूजा कब और क्यों मनाया जाता ? गोवर्धन पूजा विधि – विधान

Govardhan Puja Kyu Manaya Jata Hai यह त्यौहार दीपावली के दूसरे दिन कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को मनाया जाता है। इस दिन भगवान श्री कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी कन्नी उंगली से उठाया था। और सारे बृजवासियों की रक्षा की थी। गोवर्धन, आँगन मैं गोबर से मनाया जाता है। रात्रि के

दीपावली क्यों मनाई जाती है? दीपावली पूजा विधि विधान | Diwali 2019

नमस्कार दोस्तों! deepavali kyu manaya jata hai तथा deepawali kab manaya jata hai और deepavali puja kaise karni chahiye इसी के बारे मैं हम इस post मैं बात करेंगे। दीपावली कब और क्यों मनाई जाती है यह त्यौहार कार्तिक महीने की अमावस्या को मनाया जाता है। इस दिन भगवान राम 14 वर्ष वनवास को पूरा करके रावणको

Roop Chaturdashi Katha | रूप चतुर्दशी की कथा | नरक चतुर्दशी, छोटी दीपावली

रूप चौदस या छोटी दीपावली यह त्यौहार दीपावली से एक दिन पहले मनाया जाता है। इस दिन को छोटी दीपावली या रूप चौदस भी कहते हैं। सुबह नहाने से पहले उबटन लगाते हैं। शाम को दिन छिपते ही बाहर के दरवाजे पर नाली के मुँह पर एक दीया जलाते हैं। एक चलनी मैं एक तेल

Dhanteras Katha Hindi | धनतेरस की कथा | Dhanteras 2019

Dhanteras Ki Katha यह त्यौहार दीपावली से दो दिन पहले मनाया जाता है। इस दिन रात्रि को बाजार से आदमी घर के बर्तन, चाँदी के सिक्के, सोने की चीजें खरीदकर लाते हैं। रोशनी भी बाहर की शुरू हो जाती है, किसी के यहाँ दीपक भी जला देते हैं। दीपावली की पूजा का सामान भी ले

Ahoi Ashtami 2019 | Ahoi Ashtami Vrat Katha | Ahoi Ashtami Vrat Vidhi

Ahoi Ashtami अहोई आठें का व्रत सन्तान की उन्नति, प्रगति और दीर्घायु के लिये होता है। यह व्रत कार्तिक माह में कृष्ण पक्ष की अष्टमी को किया जाता है। जिस दिन की दीपावली होती है। उससे ठीक एक सप्ताह पूर्व उसी दिन की अहोई अष्टमी पड़ती है। किसी के यहाँ यह दिन की होती है

Raksha Bandhan 2018 | जानें शुभ मुहूर्त, भद्रा समय, पंचक काल

Raksha Bandhan नमस्कार दोस्तो !आप सभी पाठकों का हमारी वेबसाइट पर स्वागत है आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे रक्षाबन्धन के त्यौहार के बारे में, इस साल यह त्यौहार 26 अगस्त 2018 दिन रविवार को है। यह तो आप सभी को मालुम है कि रक्षाबन्धन का त्यौहार भाई बहिन के प्यार का प्रतीक माना