Filmi Tarj Bhajan Lyrics In Hindi | फिल्मी तर्ज भजन, विधि का बना विधान विधाता

Filmi Tarj Bhajan Lyrics in Hindi

तर्ज – छेड़ मिलन के गीत रे मितवा 

विधि का बना विधान विधाता।
इंसा निर्बल सदा रहा है, समय बड़ा बलवान विधाता।।

ये भी पढ़ें – नारी शक्ति पर कविता

(1) सतयुग में जलंधर परतापी, हार न मानै अपनी कदापि।
समय ने कर दायी ना इंसाफ़ी, लै लये बाके प्राण

Filmi tarj bhajan lyrics in hindi, filmi tarj bhajan,

(2) त्रेता में त्रिलोकी रघुवर, समय के आगे कुछ न सके कर।
राज तिलक होना था अक्सर, बन को हुआ प्रस्थान

ये भी पढ़ें – माता रानी भजन

शैर – सब कहते हैं की विधि का विधान समय है।
हम कहते हैं की सबका रखता ध्यान समय है।
सबका करता मान और अपमान समय है।
आदमी कमजोर है बलवान समय है।

ये भी पढ़ें – जवाबी कीर्तन भजन

(3) द्वापर में भीष्म बलधारी, समय से आखिर माने हारी।
बाणन की सईया पै भारी, है गयो उनकू ज्ञान

ये भी पढ़ें – पितृ दोष के लक्षण

(4) समय समय की बात निराली, समय है औकात निराली।
परषोत्तम सौगात निराली, रखते सबका ध्यान

ये भी पढ़ें –  फ़िल्मी तर्ज भजन

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0 Shares