Filmi Tarj Bhajan | फिल्मी तर्ज भजन | युग-युग से मेरा देश वीरों की खान था

Filmi Tarj Bhajan

तर्ज – सौ साल पहले मुझे तुमसे प्यार था 

दो. सतयुग से लेकर कलयुग तक ये मेरा देश महान।
लेख शास्त्र सब कह रहे हम वीरान की संतान।।

Filmi tarj bhajan, filmi tarj bhajan lyrics

युग-युग से मेरा देश वीरों की खान था।
जो आज भी है और कल भी रहेगा।।

ये भी पढ़ें – नारी शक्ति पर कविता

(1) वो शिव दधीच हरिश्चंद्र दान में वीर हुए थे।
वो सत की बातें सत में युग के चीर हुए थे।
दान और धर्म में भारत सबसे महान था

ये भी पढ़ें – क्रिसमस डे पर शायरी

(2) त्रेता में लक्ष्मण राम भये लव कुछ बलधारी।
जिनकी कीरत से लिखी गयी वो रामायण प्यारी।।
वीरान में वीर एक वो वीर हनुमान था

ये भी पढ़ें – देशभक्ति गीत

(3) द्वापर युग में कुंती के पांचों काल हुए थे।
वो छठे कृष्ण भगवान नन्द के लाल हुए थे।
करणवीर जैसा दानी पहला इन्सान था

ये भी पढ़ें – सामाजिक गीत

(4) एक वीर हुआ है जिसने देखो हरयुग जीता।
ना बनते जनक किसान ना पैदा होती सीता।
देश को चलाने वाला किशन वो किसान था

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0 Shares