Jawabi Kirtan Bhajan Lyrics

Jawabi bhajan lyrics, jababi bhajan lyrics,
Jawabi Kirtan

Jawabi Kirtan Lyrics

तर्ज – मेरे दिल की है आवाज बिछड़ा यार मिलेगा

 


 

तू अवध मैं जाकर देख, तुझे श्री राम मिलेंगे
मथुरा में जायेगा तो घनश्याम मिलेंगे
तुलसी के नीचे शालग्राम मिलेंगे
सिरणी मैं जाएगा तो सांई राम मिलेंगे
हनुमत सा बनकर देख जिगर सियाराम मिलेंगे
इन मात पिता के चरणों मैं, चारों धाम मिलेंगे
जेल में जाकर देख, आशाराम मिलेंगे
जैसे कार्य किये हैं वैसे अंजाम मिलेंगे
समय की खातिर सबको सब परिणाम मिलेंगे
मन्दिर मस्जिद तुमको गांम गांम मिलेंगे
तन पै भस्म रमा के साधू तमाम मिलेंगे
मीरा की भक्ति मैं प्रेम के जाम मिलेंगे
इन मात पिता के चरणों मैं, चारों धाम मिलेंगे
ब्रज चौरासी कोष मैं दो ही नाम मिलेंगे
तू राधे राधे रटिले तो कू श्याम मिलेंगे
तू भरत सा बनके देख पूजने पाम मिलेंगे
नेकी पर चल के देख बने तेरे काम मिलेंगे
प्रभु की भक्ति से दामोदर दाम मिलेंगे
इन मात पिता के चरणों मैं, चारों धाम मिलेंगे

ये भी पढ़ें – Happy New Year 2019 Wishes Quotes SMS Images In Hindi

 

Jababi kirtan lyrics

तर्ज – ओ रब्बा कोई तो बताये प्यार होता है क्या

 


 

ओ भईया मन्दिर मैं पुजते सीताराम लखन।
क्यों पूजे न जाते मेरे भरत शत्रुघ्न।।
(1) जल बिन मीन नदी बिन वारी
तैसे ही नाथ पुरूष बिन नारी
लखन सुमन मन चमन खिलाके
गए ना लखन मिला उर्मिला के
रही प्यासी वो नारी गए प्यासे सजन…
(2) वन – वन पुकारे राम हाय सीते सीते
पल – पल गुजारे घूँट लहु पीते
सीता यों बोली मुझको कई रोज बीते
करली प्रतिज्ञा मैने यही जीते जीते
क्या सीता कर नहीं पाती 14 साल तक भजन…
(3) भरत शत्रुघन ये दोऊ आज्ञाकारी
जैसे थे राम के सेवक हनुमत ब्रह्मचारी
भरत से बड़ा न सेवक कोई और भाई
क्यों नहीं पूजा होती समझ में न आई
14 साल तक पूजे भरत ने राम के चरण
(4) पूजते हैं सब देव परिवार प्यारा
भरत शत्रुघन से क्या भला न तुम्हारा
शेष महेश कहें जग सारा
जिसने भी पूजा उन भक्तों को तारा
शर्मा न करते कभी झूठी कथन…

 


 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0 Shares